Plenty Means in Hindi with Simple Definition - प्लेण्टी को हिन्दी मे जानिए

दोस्तो हमारे द्वारा इस पोस्ट मे Plenty शब्द के अनेक रूप छोटे तथा पूर्ण रूप मे दर्शाये जाएँगे। हमने यहाँ समाज के परिवारों मे खुशहाली के कुछ पहलू, इंसान की जरूरत को पूरा करने हेतु धन - दौलत तथा कोई भी काम या वस्तु की अति के भिन्न स्तर को उदाहरण से समझाने की कोशिश की है। हम उम्मीद करते है कि अंत तक एक बार पूरा पोस्ट पढ़ते ही सभी बाते आपके दिमाग मे बैठ जाएगी जिसे भविष्य मे कही भी इस्तेमाल कर सकते है। चलिये बिना समय गवाए जल्दी से आगे बड़ते है।
 

Plenty Means in Hindi with Simple Definition :


Plenty Means in Hindi :

खुशहाली, 
धन - दौलत, 
अति, 

मेरे खयाल से अब तक तो आप सभी ने ऊपर बताए शॉर्ट मीनिंग को अच्छे से समझकर पढ़ते हुये अपने जरूरी स्थान पर उपयोग कर लिया होगा। काफी सारे लोगो को एक समस्या ये आ रही होगी कि वे इन्हे जल्दी ये दिमाग मे याद करके जरूरी स्थान पर उपयोग कर लेते है लेकिन थोड़ा समय आगे बड़ने के साथ ये छोटे मीनिंग दिमाग से बाहर हो जाते है। इस तरह की परेशानी को सुलझाने हेतु ये इतना बड़ा पोस्ट आपके लिए लिखा जो आपके प्रत्येक सवाल का जवाब दे देगा। तो अब बिना देरी किए जल्दी से आगे बड़ते है। 
 

What is the Plenty Meaning in Hindi with Some Details :


मौजूद अर्थ के उपयोग समझे - 

- खुशहाली, दोस्तो इस शब्द से तो आप बहुत करीब से वाखिफ होंगे ही क्योकि हर कोई इसे अपने जीवन मे चाहता है। हम सभी रोज जो भी काम कर रहे होते है उसका सीधा संबंध हमारे जीवन के उद्देश्य से होता है। हम मानव है ऑर विचारो मे समय के साथ बदलाव होते रहते है जो भिन्न खुशी को भी दर्शाते है। 

यहाँ मौजूद हर एक इंसान अच्छा खुशहाल जीवन जीना चाहता है जिसके लिए रोज वह प्रयत्न करते हुये योगदान देता है। आप चारो ओर समाज के साथ देश के स्तर पर भी इसे अच्छे से देखकर अनुभव कर सकते है। 

- धन - दौलत, इस अर्थ से हर कोई जुड़ा होने के साथ बचपन से ही इसे लेकर एक नजरिया बना होता है। सभी के आम जीवन मे पैसे की काफी जरूरत पड़ती रहती है क्योकि समय के साथ कुछ स्थिति बनती है जीनमे बच्चो की शादी या अन्य अचानक आने बाले काम जो पैसे की जरूरत को महसूस कराते है। यहाँ स्थित अनेक लोग अपने जीवन को सुचारु रूप से चलाने के लिए लाइफ मे कई पसंद या नापसंद बाले कामो को करते हुये बड़ते है। हालाकि ऐसे उदाहरण खुद से या बाहरी पड़ोसी लोगो से जोड़कर देखते ही होंगे। 

- अति, जैसा कि इस शब्द को पढ़ते ही समझ आता है, यह चीजों की जरूरत से ज्यादा मात्रा को व्यक्त करता है। दोस्तो यह किसी भी काम, वस्तु, क्षेत्र आदि के अंतर्गत भिन्न स्तर पर लेकर जान सकते है। उदाहरण के तौर पर हमारे दादाजी बोलते ही थे कि जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज नुकसान देती है। कहने का तात्पर्य आपकी किसी वस्तु या चाहत के पूरा होने के बाद जो वाकि ज्यादा बिल्कुल सही नही होता है। आप इस तरह की बाते किताबों तथा ग्रंथो मे जरूर ही पढ़ते होंगे। 

प्रभावों को थोड़ा करीब से जाने - 

- खुशहाली, दोस्तो ये जीवन है ऑर परिवर्तन निश्चित चलता रहता है जिसे प्रत्येक क्षेत्र मे समझ सकते है। हम सभी जीवन मे सच्ची खुशी पाने हेतु ही आए है ऑर इसके लिए जरूरी काम भी करते है। देखा जाये तो यह जिंदगी मे सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हिस्सा है। उदाहरण के लिए कुछ अपनी चाहत के अनुसार चीजों को प्राप्त कर लेते है जिससे काफी खुशी होती है। लेकिन दूसरी ओर कुछ प्राप्त करके या ना करके भी बेहतर रूप मे खुशी हासिल नही कर पाते है। याने इस स्थिति मे प्रभाव दोनों दिशा मे देखने को मिल जाते है। 

उपयोग के कुछ बिन्दु जाने - 

- खुशहाली, यह सीधे मानव की खुशी से जुड़ा अनुभव है। 

- धन - दौलत, यह जीवन की अहम जरूरत को पूरा करने हेतु जरूरी होता है। 

- अति, जरूरत से ज्यादा को इसके अंतर्गत लिया जा सकता है। 

मैं आशा करता हूँ कि आपको इस पोस्ट के जरिये अनेक बाते जानने तथा समझने को मिली ही होगी। यदि अच्छा फायदा मिला तो नीचे अपने विचार जल्दी से लिख भेजे ऑर दोस्तो को यह जानकारी बताए ताकि उन्हे भी फायदा मिल सके। हमे फॉलो करे तथा दोस्तो को भी जुड़ने के लिए कहे। चलिये अब जल्दी से आगे नयी पोस्ट के साथ मिलते है। 

Post a Comment

0 Comments